ग़ाज़ियाबाद के हिण्डन विहार में स्थापित महर्षि कश्यप की मूर्ती को असमाजिक तत्वों ने किया खंडित

गाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश (Ghaziyabad, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट। ग़ाज़ियाबाद महानगर के हिण्डन विहार में स्थापित महर्षि कश्यप की मूर्ती को कुछ असामाजिक तत्वों ने खण्डित कीये जाने की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है।


     गाजियाबाद महर्षि कश्यप वाटिका में लगी भगवान महर्षि कश्यप जी की प्रतिमा को शरारती तत्वों ने कई बार नुकसान पहुंचा है। आज भी सूचना मिली कि प्रतिमा को किसी क्षतिग्रस्त किया है। और सूचना पर कश्यप समाज के काफी लोग कश्यप वाटिका पहुंचे और अपना रोष जाहिर किया।
     यूं तो प्रदेश की सरकार महापुरुषों के सम्मान और उनके स्थानों के रखरखाव की बात करती है लेकिन गाजियाबाद में यह अनदेखी सरकार के प्रति लोगों में गुस्सा पैदा कर रही है। कश्यप समाज के लोगों का कहना कि मुख्यमंत्री जी गाजियाबाद के अपने अधिकारियों को समझाओ और इन मूर्तियों के सम्मान इनके संरक्षण और सौंदर्य करण के लिए जो आपने प्लानिंग की है, उस पर काम करने के लिए इन्हें बोलो। इनकी सुरक्षा और संरक्षण के लिए कई बार अधिकारियों को ज्ञापन भी दे चुके हैं, लेकिन प्रदेश सरकार की मंशा समझ में नहीं आ रही है। कश्यप समाज इस घटना के बाद काफी गुस्से में हैं।


     महर्षि कश्यप जी की प्रतिमा को खंडित किये जाने की घटना की एकलव्य मानव संदेश कड़ी निंदा करता है और सरकार व प्रशासन से मांग भी करता है कि तुरंत नई प्रतिमा लगाई जाने के साथ दोषी को खोजकर कड़ी से कड़ी सजा देने की कार्यवाही अमल में लाई जाय।
    समाज के लोगों से भी आग्रह किया जाता है कि इस प्रकार के कुकृत्य की अधिक से अधिक निंदा करते हुए, दोषी लोगों के विरोध में अपना विरोध दर्ज जरूर कराएं।


Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image