सावधान दिल्ली चुनाव जीतने के लिए अमित शाह ने खेला नया कार्ड

सावधान दिल्ली चुनाव जीतने के लिए




अमित शाह ने खेला नया कार्ड

एनआरसी पर फिलहाल ग्रह मंत्रालय में लगाई रोक। ठीक दिल्ली चुनाव से 4 दिन पहले गृह मंत्रालय से एलान करके रोक लगादी है।

अब आप क्रोनोलॉजी समझिए- जिन मुद्दों पर अब तक बीजेपी चुनाव लड़ रही थी-

ट्रिपल तलाक़

राम मंदिर

धारा 370

    अब तीनों मुद्दे खतम हो चुके हैं। अब नए मुद्दे हैं-एनआरसी, एनपीआर, सीएए। जो फिलहाल दिल्ली चुनाव जीतने के लिए ठंडे बस्ते में डाले गए हैं ताके एक बार फिर जनता को धोखा देकर बरगला सकें। 2024 में भी खेले जाएंगे ये ट्रम्प कार्ड, हिन्दू वोट एक तरफ करने के लिए 2024 में वोट मांगा जाएगा एनआरसी के नाम पर। भाजपा चिल्लायेगी अगर 2024 में हमारी सरकार आती है तो हम एनआरसी लागू करके देश को हिंदू राष्ट्र बना देंगे। इस वक़्त एनआरसी को जानकर ठंडे बस्ते में डाला गया है।

सभी अपने भोले भाले मूलवासियों से अनुरोध है कि अब भाजपा के इन फरेबों से बाहर आकर इस सरकार से छुटकारा पाने के लिए आगे आएं। क्योंकि इस सरकार ने नोट बंदी, जीएसटी से देश पूर्ण रूप से बर्बाद कर दिया है। ये सरकार निठल्ली और विनाशकारी साबित हुई है। इस सरकार ने कभी भी विकास के नाम पर वोटर नहीं माँग।

     अब बजट भी देख लीजिये- भाजपा सरकार बीसीईसीई, बीएसनल, आईडीबीआई की हिस्सेदारी, एलआईसी की हिस्सेदारी, एयर इंडिया, भारत पेट्रोलियम, सब कुछ नीलाम करके अपने चुनाव के बजट के लिए पैसे जुटाएगी। आरबीआई का खज़ाना पहले ही खाली करके बीजेपी देश को पंगु बना चुकी है।

      अब फैसला हम सभी मूलवासियों को लेना है कि हिंदू मुस्लिम के नाम पर लड़ाकर राजनीति करने वाली इस सरकार के हाथों देश को बर्बाद करने के लिए फ़िर से इसे जिताकर देश को फिर से विकलांग बनाकर अंग्रेजों की गुलामी करने के लिए छोड़ देना है या अपने आने वाली पीढ़ी के भविष्य के इस सरकार से छुटकारा पाना है। 

क्योंकि हिन्दू मुस्लिम की लड़ाई से देश कमजोर हुआ है ना कि बलवान है। बेरोजगारी, महंगाई, भ्रष्टाचार से देश बहुत पीछे जा रहा है। नौजवान हताश है।




 


Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image