चित्तकूट का राजापुर तालाब हुआ जहरीला

राजापुर, उत्तर प्रदेश (Rajapur, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर दशरथ लाल निषाद की विशेष रिपोर्ट, 19 मार्च 2020। कोरोना से दुनिया में दहशत वहीं चित्तकूट का राजापुर तालाब हुआ जहरीला। जहाँ एक तरफ लोगों में कोरोना वायरस का खौफ है वहीँ दूसरी तरफ तालाब का पानी प्रदूषित होने से बीमारियों का खतरा बढ़ता जा रहा है तथा तालाब में पल रहे जीवों में भी इस जहरीले पानी का खतरा मंडरा रहा है।
  पूरा मामला है ग्राम चिल्ली राकस का है जी हाँ इस तालाब को गंगी तालाब के नाम से जाना जाता है। इसमें हर वर्ष मूर्ति विसर्जन किया जाता है लेकिन आज तक सफाई नहीं की गई। यही वजह है कि अब इस तालाब का पानी जहरीला हो गया है। जिससे ग्रामीणों के साथ साथ यहाँ से गुजरते के यात्रियों को भी सांस लेने में दिक्कत होती है।
  ग्रामीणों के अनुसार 2014 से लेकर अब तक इसकी सफाई नहीं की गई और अब पानी भी कम हो गया है और इसको लेकर ग्राम प्रधान को भी सूचना दी गई लेकिन अभी तक कुछ नहीं किया गया है। यदि इस तालाब की सफाई वक्त में नहीं की गई तो आने वाले दिनों में लोगों को बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।


Popular posts
पैलानी खदान में टीला धंसने से 3 मजदूरों की मौत: विशम्भर प्रसाद निषाद ने 50-50 लाख के मुआवजे की मांग
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
भाजपा की उल्टी गिनती शुरू: निषादों पर हुये प्रशासनिक अत्याचार के विरोध में निषाद कार्यकर्ताओं ने दिया सामूहिक रूप से त्यागपत्र
Image
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image