सुलतानपर जनपद के थाना गोसाई गंज अंतर्गत ग्राम पंचायत भोये में दो पक्षो में हुई मारपीट, कई घायल

गोसाईगंज, सुल्तानपुर, उत्तर प्रदेश (Gosaiganj, Sultanpur, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश ( रिपोर्टर रामसतन निषाद की रिपोर्ट, 27 मार्च 2020। सुलतानपर जनपद के थाना गोसाई गंज अंतर्गत ग्राम पंचायत भोये में दो पक्षो में हुई मारपीट, कई घायल।
ग्राम पंचायत भोये निषाद बस्ती से 500 मीटर आगे रास्ते में इसी गांव की मुस्लिम बस्ती है, जिसमें कुछ अराजक तत्व हमेशा रोड पर बैठे रहते हैं और आये दिन निषाद समाज की महिलाओं और आगन्तुको पर फब्तियां कसते रहते हैं। कई मामले ऐसे हुये हैं जो अक्सर डर के मारे अथवा विवाद बचाने के कारण दब जाते हैं। उक्त समुदाय के लोग यहाँ पर समन्तंवाद की भूमिका निभाते आये हैं। इसलिए निषादों पर जुल्म करना ये अपना अधिकार समझते हैं और आये दिन निषाद समुदाय को सताते रहते हैं।


(घटना की वीडियो लिंकः 


https://youtu.be/Cjcx3WLfKEQ)


     दिनाँक 26 मार्च 2020 समय 6 बजे शाम उमेश कुमार निषाद पुत्र दिनेश कुमार निषाद अपने दादा की तेरहवीं संस्कार हेतु घटे कुछ सामान को लाने के लिए घर से टांटियांगर बाई पास की तरफ जा रहे थे। मुस्लिम बस्ती के पास रोड पर खड़े इमरान अहमद पुत्र नूर अहमद, नूर अहमद पुत्र सगीर अहमद, ने अपने साथियों के साथ उमेश निषाद पर हमला कर दिया। उमेश ने फोन करके अपनी माता रमावती को बुलाया। विवाद सुलझाने की कोशिश हेतु कोशिश की, किन्तु नूर अहमद नहीं माना, घर से असलहा मंगा लिया। और अपने साथियों की मदद से व स्वयं भद्दी-भद्दी गालियां देते हुये सबको मारने पीटने लगा। जिसमें उमेश निषाद पुत्र दिनेश निषाद, रमावती पत्नी दिनेश निषाद (उमेश की माता), महावीर पुत्र मथुरा निषाद, नन्दलाल पुत्र गंगाराम निषाद आदि को बहुत मारा पीटा। जिससे इन लोगो को काफी गम्भीर छोटें आयीं हैं। विवाद शांत कराने की उम्मीद में आये निषाद समाज के अन्य लोग अपनी जान बचाकर भागे। जिसकी घटना का विडियो भी बना है।


    पीड़ित पक्ष के द्वारा मामला गोसाईगंज थाने पहुँचा। उमेश की माता जी की तहरीर पर थाने की पुलिस ने असंज्ञेय धारा 155 के अंतर्गत, नूर अहमद पुत्र सगीर(45) अहमद, इमरान अहमद पुत्र नूर अहमद(20) व गांव के अन्य साथी अज्ञात के खिलाफ एनसीआर लिखकर घायलों को जयसिंहपुर मेडिकल ट्रीटमेंट हेतु भेज दिया।


    ग्राम प्रधान योगेश कुमार निषाद घायलों की मदद हेतु जयसिंहपुर मेडिकल सेंटर पर पहुंचे और हालात का जायजा लेने के साथ पीड़ितों को न्याय दिलाने का भरपूर भरोसा दिया।
    वहीं पार्थिनी रमावती निषाद (उमेश निषाद की माता) ने एफआईआर लिखकर थाना अध्य्क्ष गोसाईं गंज से उचित कार्यवाही की मांग की है।


Popular posts
पैलानी खदान में टीला धंसने से 3 मजदूरों की मौत: विशम्भर प्रसाद निषाद ने 50-50 लाख के मुआवजे की मांग
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
भाजपा की उल्टी गिनती शुरू: निषादों पर हुये प्रशासनिक अत्याचार के विरोध में निषाद कार्यकर्ताओं ने दिया सामूहिक रूप से त्यागपत्र
Image