योगी सरकार की जन विरोधी नीति एनजीटी के खिलाफ होने वाले 6 जून के जलसमाधि कार्यक्रम को मिल रहा है जबरदस्त समर्थन

सुल्तानपुर, उत्तर प्रदेश, (Sulatanpur, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर राम सतन निषाद और उमेश कुमार निषाद की रिपोर्ट। योगी सरकार की जन विरोधी नीति एनजीटी के खिलाफ होने वाले 6 जून के जलसमाधि कार्यक्रम को मिल रहा है जबरदस्त समर्थन। महाजल समाधि में हजारों की तादात में शामिल होने का मिला भरोसा।


कश्यप निषाद सभा के प्रदेश अध्यक्ष एवं वयोवृद्ध नेता खेमई प्रसाद निषाद ने भी लिखित में अपना समर्थन इस आंदोलन के लिए दिया है।


       विकास खण्ड भदैयाँ क्षेत्र के करोमी गांव में शान आलम (बब्बन प्रधान) के कार्यालय पर मोस्ट (बहुजन) समाज जोड़ो तथा एन.जी.टी. काले कानून के विरोध में जागरूकता कायम करने के लिए मीटिंग का आयोजन किया गया।
         उक्त अवसर पर मोस्ट कल्याण संस्थान के निदेशक शिक्षक श्यामलाल निषाद "गुरुजी" ने एन.जी.टी. काले कानून के दुष्परिणामों से अवगत कराते हुए आगामी 06 जून को लाखों की तादात में महाजल समाधि में शामिल होने की अपील की। 
         मीटिंग के आयोजक फिरोज अहमद ने कहा कि आज से ही हम लोग महाजल समाधि विरोध-प्रदर्शन कार्यक्रम को कामयाब बनाने के लिए प्रचार-प्रसार तथा आगामी 06 जून को हजारों की तादात में सीताकुण्ड घाट पहुंचने का भरोसा दिया। 
         मीटिंग में जिला संयोजक ज़ीशान अहमद, राजेश निषाद (वजूपुर), तहजीब आलम, शिक्षक सुरेन्द्र कुमार निषाद, अंसार अहमद, मोहम्मद फारूख, मोहम्मद शमीम, अलमशेर, मोहम्मद आरिफ़, अतीक अहमद, सादान वारिश, ज़ीशान अहमद, इकरार अहमद, सलमान हाशमी, अयान वारिश सहित दर्जनों लोगों ने महाजल समाधि विरोध-प्रदर्शन कार्यक्रम को सफल बनाने का भरोसा दिया।