दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को वापिस बुलाएगी उत्तर प्रदेश सरकार, सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने लिखा था पत्र

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार लायेगी दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों को। योगी आदित्यनाथ सरकार का बड़ा फैसला।


 आज उत्तर प्रदेश सरकार ने एक फैसला लिया है कि दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को उनके घर वापिस लाया जाएगा। इसके लिए एक उच्चस्तरीय कमैटी बनाई गई है, जो इसके लिए कार्य योजना बनाएगी। 


   चरणबद्ध तरीके से होगी लोगों की वापिसी। और वापिस लौटने पर 14 दिन कोरन्टीन में रहना होगा। उत्तर प्रदेश सरकार के इस फ़ैसले से लगभग 10 लाख से ज्यादा मजदूरों में घर वापसी की आशा की किरण फुट गई है। मजदूर काम न मिलने और पैसे के अभाव में बहुत ही दयनीय स्थिति में जी रहे हैं।


राज्य सभा सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने भी इसके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री और प्रधानमंत्री दोनों को पत्र भी लिखा था।


विभिन्न संगठनों और एकलव्य मानव संदेश लगातार इस वापिसी सरकार से सुरू से मांग करता रहा है।