हिन्दू मुस्लिम करने वालों के मुँह पर तब्लीगी जमातियों का करारा तमाचा

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश। जब देश में कोरोना लॉक डाउन प्रारम्भ हुआ तो देश के मीडिया ने हिन्दू मुस्लिम करने के लिए मानवता और देश की धर्मनिरपेक्षता विरोधी ताकतों के इशारे पर कार्य करने के लिये अपनी व पूरी ताकत झोंक दी थी। जिसके दुष्परिणाम भी आने लगे थे। प्रयागराज इसी के चलते एक गरीब लौटन राम निषाद की हत्या हो गई थी। अब वही तब्लीग़ी जमात के लोग जिनको को देशभर में कोरोना फैलाने के लिए जिम्मेदार बताया था, वो ठीक होने के बाद अब कोरोना से लोगों की जान बचाने के लिए कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अपना ब्लड प्लाज्मा दान कर रहे हैं। जो लोग कोरोना पॉज़िटिव थे और इलाज के बाद ठीक हो गए, उनके ब्लड से प्लाज्मा निकलकर दूसरे कोरोना संक्रमित मरीजों को ठीक किया जा सकता है।


    इस बारे में जब कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके जमतियों को पता चला तो उन्होंने लोगों की जान बचाने के लिए अपना ब्लड प्लाज्मा दान करने का फैसला किया।प्लाज्मा दान करने वाले जमातियों ने डॉक्टरों से अपील की है कि लोगों की जान बचाने के लिए उनके खून का एक एक कतरा तक इस्तेमाल किया जाए। इन लोगों का कहना है कि इंसानियत को बचाने के लिए अगर उनका खून काम आए तो इससे अच्छी बात क्या होगी।


    कोरोना वायरस कहर के बीच तबलीगी जमात अब भी सुर्खियों में बना हुआ है। तबलीगी जमात से जुड़े 300 से ज्यादा मरीजों ने ठीक होने के बाद प्लाज्मा दान करने की इच्छा जताई है। इसी बीच रविवार और सोमवार को 12 जमातियों ने अपना प्लाजमा भी दान किया। कोरोना के ज्यादातर मामलों के लिए जिम्मेवार माने जाने वाले तबलीगी जमात की काफी आलोचना हुई थी, मगर अब जिस तरह से कोरोना के खिलाफ जंग में आगे बढ़कर आए हैं, वह सराहनीय है।   


      दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपील की थी कि कोरोना से ठीक हो चुके मरीज अपना प्लाज्मा दान करें। इसके बाद सुल्तानपुरी सेंटर में कोरोना से ठीक हो चुके जमात के चार सदस्यों ने अपना प्लाज्मा दान किया। वहीं, कई अन्य केंद्रों पर भी जमातियों ने प्लाज्मा दिया है। सूत्रों की माने तो ठीक हो चुके 300 से ज्यादा तबलीगी जमात के सदस्यों ने प्लाज्मा देने के लिए दिल्ली सरकार के सहमति फॉर्म पर दस्तखत किए हैं। 


   दिल्ली सरकार का स्वास्थ्य विभाग प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना का इलाज कर रहा है। तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना साद ने भी ठीक हो चुके तबलीगी जमात के लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की थी। 


    लोकनायक अस्पताल में ठीक हो चुके मरीजों के प्लाज्मा से कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज किया जा रहा है। खून के प्लाज्मा में वायरस के खिलाफ एंटीबॉडीज बन जाते हैं जो वायरस से लड़कर संक्रमण से बचाते हैं। ऐसे ठीक हुए मरीजों का प्लाजमा नए मरीजों को दिया जा रहा है। ऐसे ही समाचार मुम्बई और लखनऊ से भी प्राप्त हो रहे हैं।


   एकलव्य मानव संदेश शुरू से ही कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में जाति धर्म के इस्तेमाल कर राजनीतिक रोटियां सेंकने बलों की आलोचना करने में अग्रणी भूमिका निभाता रहा है। क्योंकि हम विश्वास करते हैं इन लाइनों में-


मजहब नहीं सिखाता आपस में वैर रखना। 


हिन्दी हैं हम, वतन है हिन्दोस्तां हमारा।


(देखें वीडियो https://youtu.be/dlIokMj8AjU


Popular posts
पढ़ें और समझें : 25 जुलाई 2021 को कैसे भेजें निषाद, कश्यप, बिन्द समाज की पुकारू जातियों के परिभाषित एससी आरक्षण लागू कराने के लिए राष्ट्रपति जी को ज्ञापन
Image
पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों, बढ़ते स्विस बैंकों में भारतीयों के धन पर मोदी सरकार को राज्यसभा में घेरा विशम्भर प्रसाद निषाद ने
Image
मेरी शेरनी बेटी की हत्या करवाने वाली पार्टी बीजेपी के सहयोगी का पैसा नहीं चाहिए मुझे- मूला देवी
Image
आज अयाह शाह विधानसभा क्षेत्र में मा. विशम्भर प्रसाद निषाद जी का 59 वां जन्मदिन बड़ा कार्यक्रम करके मनाएंगे कार्यकर्ता
Image
पूर्व मंत्री मनोहर लाल जी की प्रतिमा के अनावरण के माध्यम से 2022 के चुनाव जीतने के लिए अखिलेश यादव ने किया चुनाव अभियान का श्रीगणेश
Image