मास्क और सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मछली बेचने वाले को नहीं है पास की आवस्यकता

सिद्धार्थनगर, उत्तर प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो प्रदीप कुमार निषाद की रिपोर्ट। मास्क और सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मछली बेचने वाले को नहीं है पास की आवस्यकता। प्रशासन की तरफ से कुछ कार्यो में दी जा रही है छूट।


आप सभी जानते हैं कि यह समय एक ऐसी विपत्ति की है जिसमें पूरा देश मुसीबत को झेल रहा है। सरकार जनता की हर छोटी बड़ी सुविधाओं को देखते हुए उनको सहता करने का प्रयास कर रही है। इसी तरह की एक सुविधा सरकार के मुख्य सचिव ने मत्स्य विभाग को भी दी है।


    मुख्य सचिव ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि मत्स्य पालन करने वाले और उनको बेचने वालों को सरकार लॉक डाउन में छूट की सीमा से बाहर रखकर उनको अपने व्यवसाय में छूट देती है और जरूरत के अनुसार उनके ट्रांसपोर्ट को भी आने जाने की अनुमति प्रदान करती है। उन्होंने ये भी साफ किया कि अगर कोई भी बेचने वाला व्यक्ति मास्क लगाकर, सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करता है तो उसके लिए पास की आवस्यकता नही होगी।


   उपरोक्त आदेश में मुख्य सचिव ने समस्त जिलों के जिलाधिकारियों को आदेश दिया कि वे अपने जिले में इस व्यवस्था को लागू करने का दायित्व निर्वहन करें।


Popular posts
पैलानी खदान में टीला धंसने से 3 मजदूरों की मौत: विशम्भर प्रसाद निषाद ने 50-50 लाख के मुआवजे की मांग
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
भाजपा की उल्टी गिनती शुरू: निषादों पर हुये प्रशासनिक अत्याचार के विरोध में निषाद कार्यकर्ताओं ने दिया सामूहिक रूप से त्यागपत्र
Image
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image