मिर्जा चांदपुर में कोरोना संदिग्ध मिलने पर गाँव के चारों तरफ कराई गई बेरिकेडिंग, पूरा गाँव किया गया सेनीटाइज

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश। अलीगढ़ के गांव मिर्ज़ा चांदपुर केस की ताज़ा जानकारी-


मिर्जा चांदपुर में कोरोना संदिग्ध मिलने पर गाँव के चारों तरफ कराई गई बेरिकेडिंग, पूरा गाँव किया गया सेनीटाइज, 14 लोगो भेजे गए छेरत अस्पताल, 2 की तलाश जारी।


अकराबाद के गांव मिर्जा चांदपुर गांव में कोरोना संदिग्ध शहादत पुत्र रियासत अली के मिलने पर जिला प्रशासन के द्वारा सघनता से कार्यवाही की जा रही है जो अभी तक जारी है। एडीएम प्रशासन श्री लाल कृष्ण तिवारी ने बताया कि:-


1. पूरे मिर्जा चांदपुर गांव को सेनीटाइज किया गया है और सुबह 6 बजे से पुनः पूरे गांव को सेनीटाइज किया जाएगा। इसके साथ ही मिर्जा चांदपुर से लगे अन्य तीनों गांव को भी सेनीटाइज किया जाएगा।


2. संदिग्ध व्यक्ति की पत्नी व 3 बच्चों सहित 14 लोगों को छेरत होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में कोरोनटाइन किया गया है जिसमें गांव का प्रधान व दो आशा भी शामिल है तथा उनकी सतत निगरानी भी की जा रही है।


3. संदिग्ध व्यक्ति के चाचा व एक और पारिवारिक सदस्य भाग गए हैं जिनकी तलाशी की जा रही है और उनको तलाश करके छेरत मेडिकल कॉलेज में भेजकर उन्हें भी कोरोनटाइन कराया जाएगा।


4. डीएम श्री चन्द्र भूषण सिंह के निर्देश संदिग्ध व्यक्ति के पूरे परिवार सहित सभी 14 लोगों की कोरोना जांच कराई जाएगी।


5. पूरे गांव के चारों तरफ बेरिकेडिंग कर दी गयी है और लेखपाल व पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। गांववासियों को बताया गया है कि किसी भी आवश्यकता के लिए वह एसडीएम कोल से सम्पर्क करेंगे।


6. पूरे गांव को होम आइसोलेशन के रूप में तब्दील कर दिया गया है। सभी लोगों को घर के अंदर ही रहने के निर्देश दिए गए हैं।


Popular posts
पैलानी खदान में टीला धंसने से 3 मजदूरों की मौत: विशम्भर प्रसाद निषाद ने 50-50 लाख के मुआवजे की मांग
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
भाजपा की उल्टी गिनती शुरू: निषादों पर हुये प्रशासनिक अत्याचार के विरोध में निषाद कार्यकर्ताओं ने दिया सामूहिक रूप से त्यागपत्र
Image
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image