नाबालिंग ने दी दादी मां को मुखाग्नि, बेटे फंसे हैं लॉक डाउन में

जौनपुर, उत्तर प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट नागेंद्र बिन्द की रिपोर्ट। नाबालिंग ने दी दादी मां को मुखाग्नि, बेटे फंसे हैं लॉक डाउन में।


   मामला जौनपुर का है, जहां कोरोना वायरस के चलते मुंबई में फंसे दो सगे भाई अपनी मां का अंतिम संस्कार नहीं करने नहीं पहुंच सके तब मजबूरी में उनके नाबालिंग पुत्र ने अपनी दादी मां को मुखाग्नि दी तो रामघाट पर यह दृश्य देखकर मौके पर मौजूद लोगो की आंखे नम हो गयीं।
   जौनपुर जनपद क्षेत्र के तीन पेड़वा गांव के निवासी गिरजा शंकर यादव व हीरा यादव रोजी रोटी के सिलसिले में मुंबई में रहते हैं। कोरोना वायरस के चलते देश में लाॅकडाउन लगा हुआ है जिसके कारण दोनो भाई मुंबई में ही फंस गये हैं। घर पर मां, महुला यादव, दोनो भाईयों की पत्नी व तीन मासूम बच्चे रहते हैं।


रविवार को गांव में उनकी बुढ़ी मां महुला यादव की तबियत विगड़ गयी और इलाज के लिए अस्पताल ले जाते इसके पहले उनकी मौत हो गयी। मां के निधन की खबर मुंबई पहुंची लेकिन लाॅकडाउन के कारण दोनो भाई अपनी मां के अंतिम संस्कार में नहीं आ सके। मजबूरी में गिरजा शंकर के 13 वर्षीय पुत्र विवेक यादव ने अपनी दादी मां को मुखाग्नि दी।