कुलियों को 10-10 हज़ार प्रतिमाह की राहत दे भारत सरकार-विशम्भर प्रसाद निषाद

लखनऊ, उत्तर प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट। राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने रेलवे स्टेशनों पर कार्य करने वाले कुलियों को राहत पैकेज देने के लिए एक पत्र प्रधानमंत्री और रेल मंत्री को लिखा है, जिसमें श्री नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री भारत सरकार आपको अनुरोध के साथ अवगत कराना है कि देश में कोरोना वायरस (क्रोविङ-19) के रोकथाम एवं संक्रमण से बचाने हेतु देशव्यापी लॉंकडाउन की वजह से असंगठित क्षेत्र के रेलवे स्टेशनों पर काम करने वाले कुलियों की रोजी रोटी चली गई है, जिसक कारण ये लोग भुखमरी के कगार पर आ गए हैं। देश के 18 जोन के 67 रेल मण्डलों में लगभग 50 हजार लाइसेंसी कुली हैं, इसके अलावा बाकियों की संख्या लाखों से ऊपर होगी। ये लोग रोजी-रोटी के लिए ट्रेनों पर ही निर्भर हैं। लॉंकडाउन की वजह से कुलियों की आजीविका खतरे में है। सरकार ने असंगठित क्षेत्र के लिए राहत पैकंज का ऐलान जरूर किया हैं लेकिन कुलियों को राहत पैकंज से कोई लाभ नहीं मिल पाया है। सरकार को इनके लिए भी शीघ्र राहत पैकंज की घोषणा करने की आवश्यकता है। 
  अत: केन्द्र सरकार से मेरी मांग है कि भारतीय रेल में लाखों की संख्या में काम करने वाले कुली वर्ग को कम से कम 10-10 हजार रूपए प्रति माह उनके खातों में भेज कर राहत देने की कृपा करें।