लॉक डाउन बना मजदूरों, प्रवासियों का काल, दुर्घटनाओं में गई अनेकों लोगों की जान

एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो की विशेष रिपोर्ट।


मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश (Mujaffarnagar, Uttar Pradesh) ब्यूरो रिपोर्ट। मुजफ्फरनगर-सहारनपुर स्टेट हाइवे पर बुधवार देर रात बड़ा सड़क हादसा हो गया। रात करीब 1 बजे 10 प्रवासी मजदूरों को एक रोडवेज बस ने रौंद दिया। ये सभी मजदूर पंजाब से पैदल बिहार लौट रहे थे। इस हादसे में 6 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बाकी गभीर रूप से जख्मी हैं, जिन्हें मेरठ मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे के शिकार हुए मृतक मजदूरों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये का मुआवजा देने का एलान किया है।


      जानकारी मिली है, रोडवेज बस ने मुजफ्फरनगर जनपद में बुधवार देर रात को घलौली चेकपोस्ट और रोहाना टोल प्लाजा के पास पैदल जा रहे मजदूरों को कुचल दिया। इस हादसे में छह मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। इनमें से दो घायलों को मेरठ के लिए रेफर किया गया है।


     पुलिस के अनुसार हादसा रात में करीब 11:45 बजे घलौली चेकपोस्ट और रोहाना टोल प्लाजा के बीच में हुआ। पंजाब प्रांत में मजदूरी करने वाले श्रमिकों की टोली देर रात को पैदल सहारनपुर से होते हुए मुजफ्फरनगर की ओर जा रही थी। इसी दौरान कोई रोडवेज बस उन्हें कुचलते हुए फरार हो गई। शहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अनिल कपरवान ने बताया कि पिता-पुत्र समेत छह लोगों की मौके पर मौत हो गई। मृतकों के नाम-


1. हरेश सहानी (52) पुत्र जमादार सहानी, निवासी श्रीपुर दुलारपुर, थाना फुलवरिया, जिला गोपालगंज, बिहार। 


2. विकास (22) पुत्र हरेश सहानी, निवासी श्रीपुर दुलारपुर, थाना फुलवरिया, जिला गोपालगंज, बिहार। 


3. हरेश साहनी (42) पुत्र मती साहनी, निवासी खजुरिया, थाना मांझा, जिला गोपालगंज, बिहार।


4. गुड्डू कुमार (18) पुत्र बुंदा नंदराय, निवासी चइमानत थाना गढहनी, जिला भोजपुर, बिहार।


5. वासुदेव (22) पुत्र जवाहर सहानी, निवासी खजुरिया, थाना मांझा, जिला गोपालगंज, बिहार।


6. वीरेंद्र (28) पुत्र श्यामनाथ निवासी बख्तयरपुर थाना अठमन गोला, पटना, बिहार।


घायल हुए हैं- 


1. सुशील पुत्र नाथू साहनी, निवासी गांव जिगरा, थाना मीरगंज, जिला गोपालगंज, बिहार, 


2. पवारी सहानी पुत्र बटई सहनी-निवासी श्रीपुर दुलारपुर, थाना फुलवरिया, जिला गोपालगंज, बिहार।


3. प्रमोद पुत्र पवारी सहानी, निवासी श्रीपुर दुलारपुर, थाना फुलवरिया, जिला गोपालगंज, बिहार।


4. रामजीत राय पुत्र राजेंद्र राय, निवासी अलीपुर, थाना रहीमषुर, जिला सारन, बिहार।


   सुशील और रामजीत को जिला चिकित्सालय भेजा गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को मेरठ रेफर कर दिया गया। सूचना पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और हादसे की जानकारी ली।पुलिस उनके परिवार वालों से भी संपर्क करने की कोशिश में है।


     सिटी कोतवाली ने बताया कि हादसे के बाद रोडवेज बस को छोड़ कर ड्राइवर मौके से भाग गया। उसकी तलाश की जा रही है। घायल मजदूरों का इलाज चल रहा है। कपरवान के मुताबिक, बस में कोई यात्री नहीं थे। फिलहाल कोई पब्लिक ट्रांसपोर्ट नहीं चल रहा है, ऐसे में संभव है कि ये बस रेस्क्यू ऑपरेशन का हिस्सा हो और लोगों को छोड़कर आ रही हो। हम इसके ड्राइवर को ट्रैक करने की कोशिश कर रहे हैं।


गुना में ट्रक और बस की भीषण टक्कर में 8 प्रवासी मजदूरों की मौत


गुना, मध्य प्रदेश (Guna, Madhya Pradesh) में 14  मई की सुबह ट्रक और बस की भीषण टक्कर में 8 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई है जबकि 54 लोग घायल हुए हैं। हादसे के बाद मौके पर पुलिस और प्रशासन की टीम पहुंची और राहत एवं बचाव कार्य प्रारंभ कराया गया। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह ट्रक महाराष्ट्र से मजदूरों को लेकर उत्तर प्रदेश के लिए निकला था। पुलिस के अनुसार जिस वक्त यह हादसा हुआ यह ट्रक करीब 70 प्रवासी मजदूरों को लेकर उत्तर प्रदेश जा रहा था। यह हादसा देर रात तीन बजे हुआ। उन्होंने बताया कि इसमें अधिकांश मजदूर उत्तर प्रदेश के उन्नाव के हैं। पुलिस ने कहा कि यह बस गुना से अहमदाबाद जा रही थी। बस में सिर्फ ड्राइवर और क्लीनर सवार थे।


 


मध्य प्रदेश में गई थी 5 मजदूरों की जान


 बीते हफ्ते मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में ट्रक पलटने से पांच मजदूरों की मौत हो गई थी। हादसे में 11 लोग घायल हो गए थे। ये मजदूर ट्रक में छिपकर हैदराबाद से आए थे और उत्तर प्रदेश जा रहे थे। घायल हुए मजदूरों में से एक को तीन दिन से सर्दी, खांसी और बुखार था। इसे देखते हुए डॉक्टरों ने पांच मृतकों समेत सभी 18 मजदूरों के सैंपल लिए थे, ताकि इनका कोरोना वायरस टेस्ट किया जा सके।


औरंगाबाद में मजूदरों के ऊपर से गुजरी थी मालगाड़ी


उससे पहले महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हुए एक रेल हादसे में 16 प्रवासी मजूदरों की मौत हुई थी। लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री बन्द होने के बाद ये मजदूर पैदल ही अपने घर लौट रहे थे। पटरी के साथ-साथ चलते ये सभी मजदूर थकान के कारण पटरी पर सो गए। सुबह लगभग 5 बजे इनकी नींद खुलने से पहले ही मालगाड़ी इन्हें रौंदते हुए आगे निकल गई।