उत्तर प्रदेश के मजदूरों का 1000 बोरा गेंहू बिकने पहुंचा मध्यप्रदेश

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश। ये क्या हो रहा है इस कोरोना लॉक डाउन में। एक ओर जहाँ मजदूरों की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। भोजन न मिलने, पैसा न होने के कारण भूंखे प्यासे बच्चों के साथ बेबसी के साथ लगातार मजदूर और प्रवासी लोग अपने घर जा रहे हैं। वहीं इन आपदा में भ्रस्टाचारियों की भी पौ बारह हो गई हैं। मजदूरों के लिए प्रतिव्यक्ति 5 किलो गेंहू या चावल देने के लिए पूरे देश में सरकार ने खजाना खोल दिया है लेकिन मानवता के दुश्मन इस में भी अपनी काली करतूतों से बाज नहीं आ रहे हैं। उत्तर प्रदेश से चार ट्रकों में 1000 बोरा मध्यप्रदेश के सागर की मंडी ममें बेचने के लिए पहुंच गया जो बाद में पकड़ा गया है।


 


Popular posts
बड़ा खुलासा : पंचायत चुनाव में निषाद प्रत्याशियों को हराने के लिए डॉ. संजय कुमार निषाद ने रची साजिश-राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष।
Image
महामहिम राष्ट्रपति महोदय ने सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी की 17 जातियों के परिभाषित अनुसूचित जाति आरक्षण की मांग का लिया संज्ञान
Image
दबंगों द्वारा बेरहमी से की गई पिटाई से घायल निषाद महिलाओं को फतेहपुर जनपद में क्यों नहीं मिल रहा है न्याय
Image
फतेहपुर में निषाद महिलाओं को दंबगों द्वारा मारपीट कर घायल करने की घटना का संज्ञान लेते हुए सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
Image
बहुत ही दुखद समाचार : हाथरस में प्रवक्ता तिलक सिंह कश्यप जी का कोरोना से हुआ निधन
Image