बाई पास पलिंक रोड पर संकेतक न होने से अचानक भिड़ जाते हैं बाहन।

दमोह, मध्य प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर गणेश कुमार रायकवार की रिपोर्ट।  बाई पास पलिंक रोड पर संकेतक न होने से अचानक भिड़ जाते हैं बाहन।
    दमोह छतरपुर स्टेट हाइवे एनएच 27  पर बटियागढ़ के पास दमोह से छतरपुर जाने बाले बाईपास रोड पर कोई भी संकेतक नहीं है, जिससे रात में कई बाहन चालक भ्रमित हो जाते हैं। कभी कभी वाहन चालक बटियागढ़ नगर में घुस जाते हैं। नगर में भारी बाहनों का प्रबेश निषिद्ध है।
   इसके अलावा रोड पर स्पीड ब्रेकर भी नहीं है जिससे तेज़रफ़्तार बाहन आजु बाजू से आने बाले रोड के बाहनों से अचानक टकरा जाते हैं। इस पॉइंट पर कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। और जानमाल का नुकसान भी हुआ है।
   इस मार्ग पर सबसे अधिक बाइक चालक टकराये हैं, जिसका कारण रोड पर ब्रेकर न होना और आस पास बबूल के पेड़ होना भी है, जिससे बाहन चालकों को बाईपास के बाहन दिखाई नहीं दे पाते और घबराहट में बाहन की गति पर नियंत्रण खोकर दुर्घटनाओं का शिकार हो जाते हैं।
 स्थानीय लोगों ने इस बाईपास मार्ग के इस तिराहे पर संकेतक और रोड के तीनों ओर ब्रेकर बनाने की मांग की है।


Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image