डांसर महावीर बघेल की हत्या में पुलिस ने प्रेमिका और दो युवकों को गिरफ्तार कर किया हत्याकांड का खुलासा

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश। अलीगढ़ महानगर के थाना क्वार्सी क्षेत्र के स्वर्ण जयंती नगर में डांसर महावीर बघेल की हत्या में पुलिस ने बुधवार को प्रेमिका और दो युवकों को गिरफ्तार कर हत्याकांड का खुलासा कर दिया। दूसरे प्रेमी से नजदीकी होने के बाद प्रेमिका ने दूसरे प्रेमी की मदद से पहले प्रेमी की हत्या करवा दी। मुख्य आरोपी अभी भी फरार है। पुलिस ने गिरफ्तार की गई प्रेमिका और दो अन्य युवकों को जेल भेज दिया है। पुलिस लाइन में एसपी सिटी अभिषेक और एसपी क्राइम डॉ. अरविंद कुमार ने प्रेस वार्ता में बताया कि गत 6 जुलाई को क्वार्सी थाना क्षेत्र के स्वर्ण जयंती नगर में डांस सिखाने वाले एक डांसर महावीर बघेल उर्फ माही पुत्र शंकरलाल, निवासी नगला डालचंद्र, थाना क्वार्सी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसकी जांच में पता चला है कि संध्या नाम की एक युवती इस पूरे घटनाक्रम में शामिल है। विवेचना से यह भी पता चला कि मृतक महावीर सिंह उर्फ माही संध्या नाम की लड़की से पिछले 4 -5 वर्षों से प्यार करता था। मुख्य अभियुक्त विनय कटियार उर्फ बिन्नी जाटव भी इसी लड़की से प्यार करता था। विनय अपने आपको उसका मंगेतर बताता था। पुलिस के मुताबिक 6 जुलाई को विनय कटियार उर्फ बिन्नी ने ही सुबह संध्या से कहा कि वह महावीर को फोन करके बुलाए। इसके बाद संध्या ने 11 बजे महावीर को स्वर्ण जयंती नगर के साईं रेस्टोरेंट में बुलवाया। मिलकर वापस जाते समय ही संध्या के दूसरे प्रेमी विनय ने अपने साथियों के साथ मिलकर मही की हत्या कर दी। सीसीटीवी फुटेज में भी इन लोगों की यह गतिविधि कैद हो गईं।
    इस घटना में मृतक पक्ष की ओर से विनय कटियार उर्फ बिन्नी पुत्र स्वर्गीय नरोतम सिंह जाटव निवासी नगला मानसिंह थाना गांधी पार्क, गिरीश कुमार उर्फ छोटू पुत्र रामस्वरूप निवासी नगला मानसिंह, सुभाष कुमार पुत्र रामसनेही निवासी निवासी नगला मानसिंह, संध्या उर्फ लक्ष्मी पुत्री ओमप्रकाश नौरंगाबाद छावनी आंबेडकर नगर कॉलोनी थाना गांधीपार्क को नामजद किया गया था। पुलिस ने संध्या, गिरीश और और सुभाष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
    विवेचना के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि इस मामले में मुख्य आरोपी विनय कटियार ने संध्या के लिए अपनी जान देने की कोशिश की और गोली मार ली थी। उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां मृतक महावीर ने उस समय खून देकर उसकी जान बचाई थी। महावीर को क्या मालूम था कि जिसकी जान वह बचा रहा है, कुछ दिनों बाद वही आदमी उसकी जान ले लेगा। 
   संध्या उर्फ लक्ष्मी के साथ पढ़ाई के दौरान विनय प्रताप उर्फ बिन्नी कोचिंग किया करता था। जहां पर दोनों की दोस्ती हो गई और धीरे-धीरे प्यार में बदल गई। संध्या उर्फ लक्ष्मी, महावीर उर्फ माही से भी दोस्ती रखती थी और बातचीत करती रहती थी। विनय उर्फ बिन्नी को यह बात बर्दाश्त नहीं होती थी। उसके द्वारा संध्या के इंस्टाग्राम एकाउंट व फेसबुक के पासवर्ड की जानकारी होने की बात भी सामने आयी है, जोकि उस पर नजर रखा करता था। विनय उर्फ बिन्नी संध्या को अन्य किसी ओर के साथ नहीं देखना चाहता था। इसीलिए उसने अपने साथियों के साथ महावीर उर्फ माही को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। संध्या के माध्यम से फोन करवाकर साईं रेस्टोरेंट स्वर्ण जयंती नगर अलीगढ़ में बुलवाया। जहां पर संध्या की एक दूसरी महिला मित्र भी साथ थी। संध्या के कहने पर माही वहां आ गया संध्या द्वारा अपनी महिला मित्र के फोन से विनय प्रताप उर्फ बिन्नी को उसके आने की सूचना दे दी और संध्या ने मोबाइल से आउटगोइंग कॉल डिलीट कर दी थी। जिसकी जानकारी उसकी महिला मित्र को नहीं हो सकी थी। दोनों लड़किया डोसा खाकर वहां से चली गईं और महावीर उर्फ माही अकेला मोटरसाइकिल से चला गया। 
   विनय उर्फ बिन्नी व उसके दो अन्य साथी मोटरसाइकिल से पहले से ही साईं रेस्टोरेंट के सामने चक्कर लगा रहे थे। जहां वह महावीर उर्फ माही के निकलने का इंतजार कर रहे थे। जब महावीर रेस्टोरेंट से निकलकर कावेरी चौराहे की तरफ जा रहा था। उसके पीछे मोटरसाइकिल पर तीनों बैठकर उसके पीछे लग गए और 100 फुटा रोड पर मुड़ने के बाद उसके बराबर-बराबर मोटरसाइकिल चलाने लगे। दोनों में संध्या को लेकर बहस बाजी होने लगी। करीब 11:45 बजे पीपल के पेड़ के पास मोटरसाइकिल रुकवाकर तीनों के द्वारा पहले उसके साथ हाथापाई व मारपीट की गई। बाद में विनय कटियार ने महावीर को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई।
    बुधवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता के बाद जब पकड़े गए आरोपियों को जेल भेजा जाने लगा तो प्रेमिका संध्या फूट-फूट कर रोने लगी। उसका रोना देखकर जब मीडिया के लोग उसके पास पहुंचे तो वह महिला पुलिस के पीछे छिपने लगी।गिरफ्तार अभियुक्तों से पुलिस ने एक तमंचा, 2 कारतूस 315 बोर, घटना में पहने गए कपड़े, जूते बरामद किए हैं।