लौटन निषाद की विधवा पत्नी को हत्या के 3 माह बाद सरकार द्वारा घोषित 5 लाख में से मिले 4 लाख रुपये

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट।  तीन महीने पहले प्रयागराज के ग्राम बक्शी मोढ़ा, में तब्लीगी जमात पर टिप्पणी करने के कारण लौटन निषाद की हत्या के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी अदित्तानाथ के द्वारा 5 लाख रुपये देने की घोषणा की गई थी। लेकिन इस घोषण के 3 महीने तक सरकार से लौटन निषाद के गरीब परिवार को कोई मदद सरकार या भाजपा के द्वारा नहीं दी गई।


    एकलव्य मानव संदेश ने इस मुद्दे को बड़ी टिप्पणी के साथ उठाते हुए सरकार और मंत्री सिद्धार्थनाथ जी की कार्यशैली पर निषादों की उपेक्षा का सबाल उठाया था। क्योंकि लौटन निषाद का घर मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह जी की विधानसभा क्षेत्र में आता है।
  इस मुद्दे पर जितेंद्र निषाद बजरंगी जी ने परिवार को आर्थिक सहायता दिलाने के लिए बड़ी मेहनत की थी।
  आज 7 जुलाई 2020 को सिद्धार्थ नाथ सिंह (कैबिनेट मंत्री , उ.प्र. सरकार ) के कर कमलों द्वारा, बेवा सविता निषाद को शासन द्वारा घोषित पाँच लाख रुपये में से चार लाख रुपये का चेक प्रदान किया गया। और बताया गया है कि बाकी का एक लाख रुपये का चेक अगली बार मिलेगा।
   मुख्यमंत्री द्वारा घोषित बीपीएल कार्ड भी अभी तक परिवार को नहीं मिला है। अब आप समझ सकते हैं कि भाजपा की मोदी और योगी सरकार की तब्लीगी जमात को लेकर चलाई गयी नीतियों ने एक गरीब निषाद की जान ले ली और मदद के लिए कितने पापड़ बेलने पढ़े यह तो परिजन और उनके मददगार जितेंद्र निषाद बजरंगी ही अच्छी तरह से जानते होंगे। 
   इसलिए एकलव्य मानव संदेश सभी पाठकों से अनुरोध करता है कि सरकार द्वारा प्रायोजित हिन्दू मुस्लिम वाद से अपने आप को बचाने की पूरी कोशिश करें, अन्यथा अनाथ होने पर आपके बच्चों की क्या दुर्दशा होगी इसका अंदाजा आप शायद ही लगा सकोगे।