नर्मदा नदी के तट क्षेत्रों पर सभी आयोजन किये गए प्रतिबंधित

जबलपुर, मध्यप्रदेश, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर सुंदर लाल बर्मन की रिपोर्ट। कलेक्टर जबलपुर के आदेश के परिपेक्ष में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं निरोधात्मक उपाय हेतु विशेष चौकसी को दृष्टिगत रखते हुए, दिनांक 20 जुलाई को सोमवती अमावस्या के दिन नर्मदा तटों पर श्रद्धालुओं और आगंतुकों की भारी भीड़ की आशंका को देखते हुए कोरोना संक्रमण का नर्मदा जल प्रभाव के साथ सामाजिक  फैलने के खतरे के दृष्टिगत और आमजन के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए महेंद्र सिंह अनुविभागीय दंडाधिकारी जबलपुर ने नर्मदा नदी के तट ग्वारीघाट/जिलहरी घाट/ खारी घाट सिद्ध घाट/ उमा घाट /शंकर घाट /तिलवारा घाट /भेड़ाघाट एवं समस्त घाटों को आगामी आदेश तक प्रतिबंधात्मक घोषित कर दिया है।
उक्त प्रतिबंधात्मक क्षेत्र में निम्न गतिविधियां पूर्णत वर्जित रहेंगी।
-कोई भी व्यक्ति संस्था वर्णित नर्मदा तट क्षेत्रों/ घाटों पर सामूहिक रूप से एकत्रित नहीं होंगे एवं नर्मदा जल स्नान पूर्णता प्रतिबंधित रहेगा l
-कोई भी व्यक्ति संस्था वर्णित नर्मदा तट क्षेत्रों/ घाटों पर जल प्रवाह में पूजन कार्य नहीं करेंगे एवं पूजन सामग्री को विसर्जित नहीं करेंगे।
-उक्त आदेश की अवहेलना किए जाने पर संबंधित संबंधितों के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही प्रस्तावित कर एफ आई आर दर्ज की जाएगीl


Popular posts
आज संसद में विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने फिर उठाया परिभाषित SC आरक्षण का मुद्दा : सदन नहीं चलने के कारण नहीं उठा सके आज
Image
विशम्भर प्रसाद निषाद जी द्वारा पाक जेलों में बन्द भारतीय मछुआरों के बारे में पूछे गए सवाल का जबाब 6 माह बाद लिखित में दिया मंत्री ने
Image
आज फिर विशम्भर प्रसाद निषाद जी का SC प्रमाण पत्र से सम्वन्धित सवाल राज्यसभा में हंगामे की भेंट चढ़ गया
Image
25 जुलाई को वीरांगना फूलन देवी शहादत दिवस पर उत्तर प्रदेश के हज़ारों गांव से निषाद बिन्द कश्यप समाज ने भेजे परिभाषित आरक्षण लागू कराने के लिए महामहिम राष्ट्रपति जी को ऑनलाइन ज्ञापन
Image
पूरी जानकारी : कैसे भेजें 25 जुलाई 2021 को निषाद, कश्यप, बिन्द समाज की पुकारू जातियों के परिभाषित एससी आरक्षण लागू कराने के लिए राष्ट्रपति जी को ज्ञापन
Image