नर्मदा नदी के तट क्षेत्रों पर सभी आयोजन किये गए प्रतिबंधित

जबलपुर, मध्यप्रदेश, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर सुंदर लाल बर्मन की रिपोर्ट। कलेक्टर जबलपुर के आदेश के परिपेक्ष में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं निरोधात्मक उपाय हेतु विशेष चौकसी को दृष्टिगत रखते हुए, दिनांक 20 जुलाई को सोमवती अमावस्या के दिन नर्मदा तटों पर श्रद्धालुओं और आगंतुकों की भारी भीड़ की आशंका को देखते हुए कोरोना संक्रमण का नर्मदा जल प्रभाव के साथ सामाजिक  फैलने के खतरे के दृष्टिगत और आमजन के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए महेंद्र सिंह अनुविभागीय दंडाधिकारी जबलपुर ने नर्मदा नदी के तट ग्वारीघाट/जिलहरी घाट/ खारी घाट सिद्ध घाट/ उमा घाट /शंकर घाट /तिलवारा घाट /भेड़ाघाट एवं समस्त घाटों को आगामी आदेश तक प्रतिबंधात्मक घोषित कर दिया है।
उक्त प्रतिबंधात्मक क्षेत्र में निम्न गतिविधियां पूर्णत वर्जित रहेंगी।
-कोई भी व्यक्ति संस्था वर्णित नर्मदा तट क्षेत्रों/ घाटों पर सामूहिक रूप से एकत्रित नहीं होंगे एवं नर्मदा जल स्नान पूर्णता प्रतिबंधित रहेगा l
-कोई भी व्यक्ति संस्था वर्णित नर्मदा तट क्षेत्रों/ घाटों पर जल प्रवाह में पूजन कार्य नहीं करेंगे एवं पूजन सामग्री को विसर्जित नहीं करेंगे।
-उक्त आदेश की अवहेलना किए जाने पर संबंधित संबंधितों के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही प्रस्तावित कर एफ आई आर दर्ज की जाएगीl


Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image