बर्खास्तगी प्रकरण-अमर सिंह पटेल अपर निजी सचिव निवर्तमान अध्यक्ष सचिवालय संघ लखनऊ

लखनऊ, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो। आज सरकार की मानसिकता पूरी तरह से दीख गयी है, पिछड़े वर्ग से एक सामान्य कृषक (कुर्मी) परिवार से तालुक रखने वाले बेहद ईमानदार व निष्ठावान अधिकारी अमर सिंह पटेल जी जिनके इतने लंबे कार्यकाल में आज तक कोई उगली नहीं उठा पाया, उनकी ईमादारी ऐसे ही आप समझ सकते हैं कि वह सचिवालय संघ के लंबे समय तक अध्यक्ष रहे वहाँ के सर्वमान्य व्यक्ति थे, उनको आज प्रदेश सरकार की तरफ से बर्खास्त कर दिया गया है, सिर्फ उनकी गलती यह थी कि उन्होंने कुछ दिन पहले गोरखपुर विश्विद्यालय की भर्तियों में जो आरक्षण का पूरी तरह से उल्लघंन हुआ था उसके खिलाफ पोस्ट कर दिया था  अब इसमें अगर देखा जाए तो सामान्यता उन्होंने कोई गलती नहीं की है, बल्कि ये उनका संविधानिक अधिकार है। उनके हटाने का सबसे बड़ा कारण यह भी है कि वह एक पिछड़े वर्ग से आते हैं।  अगर आप सभी में थोड़ा सा भी अन्याय के खिलाफ लड़ने की ताक़त बची हो तो मजबूती से सरकार पर दबाब बनाएं, वह चाहे सोशल मीडिया से हो या अपने विधायकों पर दबाब बनाएं और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर बर्खास्तगी निरस्त कराएं। यूपी में कुर्मी समाज से लगभग वर्तमान में 35 विधायक है अगर इसमें 30 भी मजबूती से प्रयास करें तो दो दिन में मुख्यमंत्री को बर्खास्तगी निरस्त करनी पड़ेगी।



 


Popular posts
बड़ा खुलासा : पंचायत चुनाव में निषाद प्रत्याशियों को हराने के लिए डॉ. संजय कुमार निषाद ने रची साजिश-राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष।
Image
महामहिम राष्ट्रपति महोदय ने सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी की 17 जातियों के परिभाषित अनुसूचित जाति आरक्षण की मांग का लिया संज्ञान
Image
दबंगों द्वारा बेरहमी से की गई पिटाई से घायल निषाद महिलाओं को फतेहपुर जनपद में क्यों नहीं मिल रहा है न्याय
Image
फतेहपुर में निषाद महिलाओं को दंबगों द्वारा मारपीट कर घायल करने की घटना का संज्ञान लेते हुए सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
Image
बहुत ही दुखद समाचार : हाथरस में प्रवक्ता तिलक सिंह कश्यप जी का कोरोना से हुआ निधन
Image