नलकूप संचालकों ने की बरारी के डाक बंगला में बैठक

बरारी, कटिहार, बिहार, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर धीरज चौधरी की रिपोर्ट, 7 सितम्बर 2020। बरारी के डाकबंगला में नलकूप संचालक संघ की एक बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता चंदन कुमार ने की। बैठक में बरारी प्रखंड के सभी नलकूप संचालको ने भाग लिया। इस बैठक में सात मांगों को लेकर विचार-विमर्श हुआ। इस मौके पर संघ के अध्यक्ष ने बताया कि वे, जिले में लघु सिंचाई विभाग के द्वारा संचालित नलकूपों का संचालक काम करते हैं। कई संचालक पिछले 2 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक लगातार काम कर रहे हैं। लेकिन सरकार की ओर से उन्हें किसी तरह का मानदेय नहीं दिया जाता है। इससे संचालकों की आर्थिक स्थिति दयनीय हो गई है। परिवार का भरण पोषण करने में भी काफी परेशानी हो रही है।बैैठक में मुख्य रूप से जिले में सभी बंद नलकूपों को पुनः चालू करना, पाइप लाइन को दुरुस्त करना, सभी संचालकों को अविलंब मानदेय का भुगतान करना, सरकार द्वारा नलकूप संचालकों का एक करोड़ का जीवन बीमा करना, सभी नलकूप जर्जर भवन को दुरुस्त करना, जिला में स्थाई रूप से सभी संचालकों को नियमित करना जैसे मांग शामिल थीं।
बैठक में कहा गया कि हम जैसे नलकूप संचालकों की भागीदारी के कारण सभी किसानों को पानी खेतों तक पहुंचाया जाता है। लेकिन अबतक सरकार बिना मानदेय का ही कार्य करा रही है।
मौके पर सभी नलकूप संचालक ने मांग पत्र कृषि मंत्री और मुख्यमंत्री को सौपने का निर्णय लिया।
   सोमवार को कार्यपालक अभियंता कटिहार एवं डीएम कटिहार, डीडीसी कटिहार, कृषि पदाधिकारी कटिहार को मंगलवार को मांग पत्र सौंपने का निर्णय लिया गया है।
वही इस संबंध में नलकूप संचालकों ने कहा कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं होती हैं तो वे लोग प्रदर्शन के लिए मजबूर हो जाएंगे।
बैठक के दौरान अनेक नलकूप
नलकूप संचालक मौजूद थे।


Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image