वीर शहीद अखिलेश निषाद के पिताजी आत्माराम निषाद ने भी 17 जातियों को परिभाषित करने के लिए दिया ज्ञापन

इटावा, उत्तर प्रदेश (Etawah, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 16 सितम्बर 2020। आज इटावा जिलाधिकारी के माध्यम से निषाद आरक्षण के लिए 7 जून 2015 को गोरखपुर के कसरबल में अपनी जान वलिदान करने वाले वीर शहीद अखिलेश निषाद के पिताजी आत्माराम निषाद और वीर शहीद अखिलेश निषाद के साथ आंदोलन में मौजूद रहे पंकज निषाद और उनके ही गांव के जोगिंदर निषाद ने निषाद मछुआरों सहित 17 जातियों को उनकी मूल जाती में परिभाषित कर आरक्षण देने के लिए महामहिम राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन भेजा।



 



Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
भाजपा की उल्टी गिनती शुरू: निषादों पर हुये प्रशासनिक अत्याचार के विरोध में निषाद कार्यकर्ताओं ने दिया सामूहिक रूप से त्यागपत्र
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image