वीरांगना फूलन देवी जी की माता जी ने फूलन देवी जी की बड़ी बहन श्रीमती रुकमणी देवी निषाद के नेतृत्व में दिया ज्ञापन

कालपी, जालौन, उत्तर प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट। वीरांगना फूलन देवी जी की माता जी श्रीमती मूलदेवी जी ने फूलन देवी जी की बड़ी बहन श्रीमती रुकमणी देवी निषाद के नेतृत्व में, ग्राम शेखपुर गुढ़ा की विभिन्न समस्याओं को लेकर 21 सितम्बर 2020 को कालपी तहसील में धरना देने के बाद, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन दिया गया।




  ज्ञापन में शिकायत की गई है कि विधवा औरतों को पेंशन नहीं मिलती और न कोई जांच की जाती है।
गांव में ट्यूबेल खराब पड़ा हुआ है, 1076 पर शिकायत के बाद छोटे साहब गांव में आये, ठीक कराने का आस्वासन देकर चले गए, लेकिन आज तक ट्यूबेल ठीक नहीं हुआ है।
जब से चकबंदी हुई है, आज तक चकरोड नहीं पड़े, जिससे आने जाने वाले लोगों को परेशानी होती है।
गांव में आज तक एक भी किसान को आवास नहीं मिला है, जबकि जिलाधिकारी ने गांव ने विकास के लिए आदेश दिया था।
किसानों को मिलने वाली किसान निधि में लेखपाल ने 200 रुपये के हिसाब से पैसे भी लिये लेकिन आज तक कोई पैसा नहीं मिला है।
   मदन कंधी हरिजन, लाल सिंह पुत्र कालका की दुर्घटना में मौत हो गई, लेकिन कोई सुनवाई आज तक नहीं हुई है।
श्रीमती सिया दुलारी, श्रीमती सुमन, श्रीमती लीलावती का राशन मिलता राह, ये गरीब हैं, लेकिन कोटेदार ने इनका नाम दूसरे खाते में डाल दिया है। 
    भारत निषाद के खेत की चकबंदी हो चुकी है, लेकिन चकरोड आज तक नहीं डाला गया है। इलाका लेखपाल कहता है कि जेब में पैसा हो तो बात कीजिए।
हैंडपम्प बिगड़ा हुआ है, इससे दो मोहल्ला पानी भरते हैं, एक मोहल्ले में आज तक कोई हैंडपम्प नहीं है। कई विधायकों तक से   अनुरोध किया गया लेकिन आज तक किसी ने नहीं सुनी।   इस ज्ञापन का संज्ञान ले और शीघ्र कार्यवाही करे सरकार। अन्यथा आने वाले चुनाव ने समाजवादी पार्टी को मजबूत करने के लिए इस गाँव में आवाज उठेगी।




Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image