50 वर्ष के संघर्ष से मिली अधूरी बाधमण्डी को हड़पने का खेमई प्रसाद ने लगाया आरोप

सुलतानपुर, उत्तर प्रदेश, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर उमेश कुमार निषाद की रिपोर्ट।सुल्तानपुर में 27 अक्टूबर 2020 को खेमई प्रसाद निषाद के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश कश्यप निषाद सभा के बैनर तले धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।   


   ज्ञापन देते समय श्री खेमई प्रसाद निषाद ने आरोप लगाया कि बाधमंडी में दुकान की कमी को देखकर पूर्व सांसद वरुण गांधी ने दुकान निर्माण हेतु 44.20 लाख रुपये अपनी निधि से दिए, परन्तु दुकानों के निर्माण के बजाय हाल का निर्माण कराया गया, जिससे प्रतीत हो रहा कि दुकान के लिए आवंटित धनराशि का बंदरबांट हुआ है और यह भी आरोप लगाया कि बाधमण्डी निर्माण के लिए 50 वर्ष से संघर्षरत संस्था उत्तर प्रदेश कश्यप निषाद सभा एवं उसके पदाधिकारियों के संज्ञान में लाये बिना एक पक्षीय स्थानांतरण कागजी संस्था की अध्यक्षता रेखा निषाद के पक्ष में कर दिया गया।


  कार्यक्रम आयोजक श्री खेमई प्रसाद निषाद ने मांग की कि वर्तमान सरकार मूँज क्राफ्ट योजना लागू करने को निरस्त कर, बाध उद्योग विकास की योजना लागू की जाय एवं कार्य दायी संस्था द्वारा सांसद निधि से बने गोदाम का हस्तांतरण रेखा निषाद के पक्ष में कर दिया है, उसे निरस्त कर नई प्रक्रिया लागू किया जाय।


   ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष राम कुमार निषाद, शिव प्रसाद कश्यप, छोटेलाल निषाद, संयोजक मंगला, एडवोकेट देवतादीन निषाद, राधेश्याम निषाद, राजकुमार गौतम, रविकांत निषाद, जीशान अहमद, नरेन्द्र कुमार निषाद, रामकुमार निषाद (प्रधान), रामसंजीवन निषाद, मगन निषाद (प्रधान), विक्रम निषाद, नागवंशी सोनू निषाद, हीरालाल निषाद, अशर्फीलाल निषाद, रामप्यारे निषाद, दिलीप निषाद, अमृतलाल निषाद, हरिश्चंद्र निषाद, दान बहादुर निषाद, बुद्धू निषाद, पत्रकार सुरेश मल्लाह, पत्रकार राम प्यारे निषाद, राम पियारे निषाद, दिलीप निषाद, राजीव निषाद, शिव कुमार निषाद, पारस नाथ निषाद, खादीराम निषाद, मुन्नालाल निषाद, राम बहादुर निषाद, सत्येन्द्र यादव, संदीप निषाद, मुन्नीलाल निषाद, राम सजीवन निषाद, राम सहाय निषाद, शोभनाथ निषाद, गिरधारी लाल निषाद, लालचंद निषाद, फूलचंद निषाद, बुधराज यादव, बरसाती निषाद, सैयद कुमैल हैदर, श्याम बहादुर निषाद, लालजी निषाद, पिंटू निषाद, जय प्रकाश निषाद, कृष्ण कुमार निषाद, गोविंद कुमार निषाद, शोभनाथ, आलोक भास्कर, नागवंशी सोनू निषाद, विक्रम निषाद, शिवलाल निषाद, अंशू निषाद, अमृतलाल निषाद सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।