अलीगढ़ में प्रजापति समाज की 3 वर्षीय बेटी से दुष्कर्म के बाद हत्या की झूठी खबर हुई वायरल

अकराबाद, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश। अलीगढ़ जनपद के अकराबाद कस्बे में प्रजापति समाज की तीन वर्षीय बच्ची की मैक्स लोडर की चपेट में आने से मौत के तीसरे दिन सोशल मीडिया पर उसकी दुष्कर्म के बाद हत्या की खबर वायरल हो गई।
   फोटो वीडियो सहित खबर वायरल करने का आरोप खुद बच्ची के पित्ता पर है। जब यह खबर जबरदस्त तरीके से वायरल हुई तो पुलिस अधिकारियों के कान॑ खड़े हुए। रात में हीं एसपी क्राइम मौके पर जांच के लिए पहुंच गए। उल्होंने जांच के बाद इस पोस्ट को झूंठा करार देते हुए बताया कि दंपती विवाद में खुद बच्ची के पिता ने यह किया है। देर रात मामले में कार्रवाई की तैयारी थी। 
    बुलंदशहर के जहांगीराबाद निवासी अरुण कुमार और उसकी पत्नी लक्ष्मी के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन है। इसी विवाद के चलते लक्ष्मी अपने चार बच्चों सहित करीब सवा साल से अपने मायके कस्बा अकराबाद में पिता के पास रह रही है। वाकया 4 नवंबर की दोपहर का है, उसकी तीसरे नंबर की तीन साल की बच्ची की घर के बाहर खेलते समय मैक्स की चपेट में आकर मौत हो गई। घायल बच्ची को परिजन  क्वार्सी के ट्रॉमा सेंटर ले आये। जहाँ मैक्स का पहिया ऊपर से गुजरने के कारण उसे बचाया नहीं जा सका। इस दुर्घटना का मुकदमा खुद बच्ची की माँ लक्ष्मी ने अज्ञात चालक के खिलाफ अकराबाद में दर्ज कराया। 
   बेटी की मौत की सूचना पिता अरुण को भी दी गई। 5 नवंबर की सुबह अरुण यहां अलीगढ़ आया और शुरुआत से हो बच्ची की हत्या का आरोप लगाने लगा। पुलिस के अनुसार 5 नवम्बर की सुबह उसने 112 नंबर पर फोन करके बच्ची की हत्या की सूचना दी। सूचना पर पुलिस पहुंची और जांच के बाद उसे समझाकर चली आई। इधर, 5 नवंबर  की शाम को पोस्टमार्टम के बाद बच्ची का शव अलीगढ़ से अरुण अपने साथ जहांगीराबाद ले गया। और वहीं अंतिम संस्कार किया। इसके बाद शनिवार की शाम से अचानक ट्विटर व फैसबुक के तमाम एकाउंटों को टैग करते हुए, वीडियो फोटो सहित पोस्ट वायरल की गई, जिसमें इस बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या होने का आरोप लगाया गया। पोस्ट वायरल होते ही अलीगढ़ पुलिस की साइबर सेल हरकंत में आई। प्रकरण एसएसपी तक पहुंचाया गया। एसएसपी के निर्देश पर रात में हीं एसपी क्राइम अकराबाद पहुंचे। वहां परिवार, कस्बे के लोगों व मां से बातचीत की। उन्होंने बताया कि अरुण ने हमें फंसाने के लिए यह किया है। तमाम लोगों के सामने दिन में एक्सीडेंट की घटना हुई, जिसे कोई कैसे झुठला सकता है। बस अदालत में. चल रहे मुकदमे में दबाव बनाने के इरादे से यह किया गया है।
  एसपी क्राइम डॉ. अरविंद ने पत्रकारों को बताया, बच्ची की मौत एक्सीडेंट में हुई है। उसका मुकदमा मां ने दर्ज कराया है। पोस्टमार्टम में भी बच्ची की मौत एक्सीडेंट में होने का उल्लेख है। अब पिता द्वारा यह निराधार व झूठा आरोप लगाकर पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल गई है जिसकी जांच की जा रही। जांच के आधार पर पोस्ट वायरल करने वालों और बच्ची के इस तरह के फोटो वीडियो वायरल करने वालों व पिता के खिलाफ कार्रवाई तय की जाएगी। 
   जिला पुलिस की साइबर सेल ने इस घटना की सच्चाई पता चलने के बाद सभी ट्वीट व व फ़ोटो पर जबाब में री-ट्वीट किए जाने लगे तो देर रात तक काफी संख्या में री-टवीट किए गए। जिसमें बताया गया कि घटना झूठी है। इस पर लोगों ने अपने एकाउंटों से पोस्ट डिलीट करने शुरू कर दिए। 



  आज दिनांक 08/11/2020 दिन रविवार को प्रजापति महासभा के पदाधिकारीगण अकराबाद, जनपद अलीगढ में दिनांक 04 /11/2020 को एक्सीडेंट से कु. साक्षी की हुई मृत्यु के पीड़ित परिवार से मिले और सम्बन्धित सभी जानकारी प्राप्त करते हुए शोक संवेदना व्यक्त किया। कु. साक्षी की माता श्रीमती लक्ष्मी देवी प्रजापति, नाना गोपीचन्द प्रजापति निवासी अकराबाद ने कहा कि दिनांक 04/11/2020 को कु. साक्षी उम्र 3 वर्ष बाहर खेल रही थी, तभी अज्ञात वाहन ने एक्सीडेंट मार दिया चीख सुनकर हम लोग आए तो घायल पुत्री को वरूण हॉस्पीटल अलीगढ में इलाज कराने ले गए थे इलाज के दौरान मृत्यु हो गई है। पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम कर हमारी तहरीर पर थाना अकराबाद में अपराध सं 382 धारा 279= 304 ए मुकद्दमा दर्ज कर लिया गया है। बलात्कार की बात सही नहीं है। प्रतिनिधि मण्डल ने थाना प्रभारी अकराबाद से भी विचार विमर्श जानकारी प्राप्त की। थाना प्रभारी ने आवश्यक कार्यवाही के लिए आश्वासन दिया। सभी ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए ईश्वर से प्रार्थना की कि हे ईश्वर मृतका कु. साक्षी की पवित्र आत्मा को सदगति शान्ति और आनन्द प्रदान करे, शोकाकुल परिवार को धैर्य रखने की शक्ति प्रदान करे।
   शोक संवेदना व्यक्त करते हुए आचार्य पूरनमल प्रजापति, श्री जय सिंह प्रजापति, श्री राजन सिंह प्रजापति, श्री कौशल किशोर प्रजापति, श्री दिनेश प्रजापति, श्री बीरपाल प्रजापति, श्री अमर सिंह प्रजापति, श्री नारायण प्रजापति, श्री रहीशपाल प्रजापति, श्री गजेन्द्र सिंह प्रजापति, श्री देवेन्द्र कुमार, श्री लालाराम प्रजापति, श्री रामदास प्रजापति, श्री गोपीचन्द्र प्रजापति,, श्रीमती लक्ष्मी प्रजापति, श्री वीरेन्द्र सिंह प्रजापति दिल्ली, श्री दीपक प्रजापति, आरती प्रजापति दिल्ली, श्री उदयवीर सिंह एडवोकेट ,श्री देवराज प्रजापति सहित अनेकों लोग उपस्थित थे।