कानपुर में पिंटू निषाद की मौत से साम्प्रदायिक तनाव

कानपुर, उत्तर-प्रदेश। कानपुर नगर के वाजिदपुर में 16 नवम्बर 2020 को बवाल हो गया। कानपुर महानगर के वाजिदपुर में मामूली विवाद पर दो समुदायों में हिंसक झड़प हो गयी, जिसमें एक युवक पिंटू निषाद की मौत हो गयी। इस घटना से आसपास के क्षेत्र में साम्प्रदायिक तनाव बढ़ जाने पर अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है। घटना पर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नजर बनाए हुए हैं।
    कानपुर में हुई इस घटना का मूल कारण पानी के छींटे पड़ने को लेकर दो समुदाय आमने-सामने आ गए और दोनों के बीच जमकर मारपीट हुई। एक समुदाय की तरफ से कुछ लोगों ने पथराव किया। दूसरे समुदाय का एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई। मृतक का नाम पिंटू निषाद बताया गया है। घटना के बाद इलाके में तनाव बढ़ गया है जिसकी वजह से अतिरिक्त पुलिस की तैनानी करनी पड़ी है।
   कानपुर शहर के वाजिदपुर निवासी टेनरी कर्मी श्रीराम निषाद का बेटा पिंटू निषाद 25 चप्पल बनाने का काम करता था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रविवार देर रात वह अपने बड़े भाई दीपक और साथी संदीप के साथ जा रहा था। तभी एक गुमटी के पास पानी के पाउच से छींटे पड़ने को लेकर अमान और उसके साथियों से विवाद हो गया। इसे लेकर दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। स्थानीय लोगों के बीच-बचाव करने पर मामला शांत हो गया।
लेकिन पिंटू की मौत की खबर के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी हुई है। मृतक के परिजनों ने शव रखकर सड़क पर जाम लगा दिया है। मौके पर एसएसपी सहित कई अधिकारी पहुंच गए। एसएसपी ने इस मामले में लापरवाही करने के पर जाजमऊ चौकी इंचार्ज अनुराग सिंह और एक सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया है।
अधिकारियों ने ताबड़तोड़ दबिश देकर सात आराेपियों को हिरासत में लिया है। वर्षीय पिंटू निषाद टेनरी में काम करता था। रविवार रात को वह अपने बड़े भाई दीपक और दोस्त संदीप के साथ कहीं जा रहा था तभी रास्ते में उन्होंने पानी का पाउच पीने के लिए खरीदा था। इसी दौरान उन लोगों के पाउच से पानी की कुछ छीटें इलाके के स्थानीय युवक पर पड़ गईं, इसी बात को लेकर अमान और उसके साथी तीनों से भिड़ गए और इस पथराव में पिंटू गंभीर रूप से घायल हो गया और  हैलट अस्पताल में पहुंचते ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने युवक की मौत पर शोक व्यक्त कर उसके परिवार को पांच लाख रुपये आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। और आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया है।


Popular posts
बाँदा में हो रहे अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर रोक लगाने के लिए राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद जी ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को लिखे पत्र
Image
केवट, मल्लाह, निषाद जाति को झारखंड राज्य की अनुसूचित जाति में शामिल करने के प्रस्ताव को हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने दी मंजूरी
Image
प्रयागराज की धरती पर डॉ. संजय निषाद और भाजपा के दलालों पर फूटा निषादों का गुस्सा- खदेड़ा गांव से
Image
23 फरवरी को मुजफ्फरनगर में 11 बजे संवैधानिक आरक्षण संघर्ष मोर्चा की आरक्षण महा पंचायत में जरूर पहुंचे
Image
दर्दनाक: राजस्थान के पाली जिला में बंजारा विमुक्त घुमन्तु जनजाति के किसान को जिंदा जला दिया
Image