नालंदा जिला में बदमाशों द्वारा एक केवट की मौत की घटना के बाद परिजनों में बना हुआ है दहशत एंव भय

इसलामपुर, नालंदा, बिहार, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट। नालंदा जिला में बदमाशों द्वारा एक केवट की मौत की घटना के बाद परिजनों में बना हुआ है दहशत एंव भय।


(देखें वीडियो में क्या कह रहा है मृतक का भाई)




   नालंदा जिला के इसलामपुर थाना क्षेत्र के मेढी गांव में बदमाशों ने गोली मारकर 30 वर्षीय युवक की हत्या कर दी थी। परिजनों ने बताया कि जयकुमार सहानी डेकोरेशन का काम करता था। और बदमाश सट्टा करने का बहाना बनाकर घर से बुलाकर ले गये थे, उसके बाद गोली मारकर हत्या कर फरार हो गये। इसकी सूचना थाना में दर्ज कराने के बाद भी अब तक  कुछ नहीं हो सका है। जिसके कारण घटना को लेकर परिजनों के बीच दहशत एंव भय का महौल बना है।



     बदमाशों के हाथों मारे गए जय कुमार सहानी के भाई अमरजीत साहानी उर्फ कौशल कुमार पुत्र रामचंद्र केवट ने एक वीडियो और लिखित तहरीर के माध्यम से बताया है कि 26 अक्टूबर 2020 की रात्री 8.30 बजे मैं अपने भाई जय कुमार उर्फ  हरिनंदन केवट के साथ अपने घर पर बैठा था, इसी बीच 1-उदय कुमार हिमांशु पुत्र स्वर्गीय अरुन कुमार हिमांशु, 2-संतोष राम पुत्र किशोरी राम, 3-अजीत चौधरी पुत्र स्वर्गीय नन्हक चौधरी सभी निवासी मौजा मेढ़ी मठ, 4.महेश सिंह उर्फ बुटाई सिंह पुत्र स्वर्गीय गुलाब सिंह, 5-जटृटे सिंह पुत्र स्वर्गीय सिदेशवर सिंह, निवासी मौजा मेढ़ी पतिविगहा, पोस्ट चंधारी, 6-रामानंद केवट पुत्र स्वर्गीय अनथ केवट, 7-किशोरी राम पुत्र स्वर्गीय सीताराम, 8-बबलु राम पुत्र स्वर्गीय केशर राम, 9-नीतिश यादव पुत्र ओकिल यादव, 10-मुकेश यादव पुत्र राजेंदर यादव निवासी पचलोवा थाना ईसलामपुर, जिला नालांदा और एवं दो-तीन अंजान लोग आये और मेरे भाई हरिनंदन केवट को जबर्दस्ती सट्टा करने के लिए बोलकर अपने साथ ले गये। करीब 9.30 बजे रात्रि में जब गोली की आवाज सुनाई दी तो मैं, मेरे पिता, मेरा छोटा भाई, मेरी पत्नी गुड़िया देवी, भाभी रजनी देवी (स्वर्गीय जय कुमार की पत्नी), मोही राम पुत्र स्वर्गीय प्रीतम राम, संजीत कुमार पुत्र बल्लम प्रसाद वगैरह लोग दौड़े और गाँव के बगल में बागीचे में पहुचे तो देखा कि मेरा भाई जमीन पर गिरा है और बाऐं तरफ सीना में एवं बाएं हाथ में गोली लगी है और छटपटाते हुऐ जमीन पर दम तोड़ दिया। एवं उपरोक्त लोग हाथ में दुनाली बंदूक एवं पुलिस गन लिए हुये भाग रहे थे। 



   आज तक इनके विरुद्ध पुलिस ने अभी तक उचित कार्यवाही नहीं की है, जिसके कारण ये लोग दहशत में जीने को मजबूर हैं। इसलिए समुचित कार्यवाही किये जाने की गुहार परिवार ने लागई है।