7 जून 2021 को निषाद, कश्यप, बिन्द के परिभाषित आरक्षण के ज्ञापन को भेजने से पहले इस निर्देश को ध्यान से पढ़ें

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश, ब्यूरो रिपोर्ट।  

अपने जिला का ज्ञापन 9457311662 पर व्हाट्सएप पर अपना नाम व पता लिखकर भेजकर मंगा सकते हैं।  पूरी खबर जरूर पढ़ें।

7 जून 2021 को निषाद, कश्यप, बिन्द के परिभाषित आरक्षण के ज्ञापन को भेजने से पहले इस निर्देश को ध्यान से पढ़ें।

  आपको जानकर हर्ष होगा की 7 जून 2021 को पूरे उत्तर प्रदेश में सभी गांव से मछुआ समुदाय की निषाद, कश्यप, बिन्द, मल्लाह, केवट, कहार, गौड़, गौड़िया, रायकवार, बाथम, धीवर, धीमर, माझी, तुरहा, तुराहा उपजातियों को उनकी की मूल जातियों, मझबार, तुरैहा, गोंड, बेलदार की परिभाषित जाति का आरक्षण लागू कराने के लिए भारत के महामहिम राष्ट्रपति महोदय जी को ज्ञापन भेजे जा रहे हैं। 

   ज्ञापन भेजने की यह पहल इन जातियों के आरक्षण लिए पिछले 30 सालों से लगातार विधान सभा से लेकर संसद के दोनों सदनों में, 4 बार उत्तर प्रदेश में विधायक, तीन बार उत्तर  प्रदेश सरकार में मंत्री, एक बार फतेहपुर लोकसभा से सांसद, और दो बार से लगातार राज्यसभा में सांसद, राज्यसभा में समाजवादी पार्टी के मुख्य सचेतक और राष्ट्रीय महासचिव, संसद रत्न से सम्मानित माननीय विशम्भर प्रसाद निषाद जी के संरक्षण में, एकलव्य मानव संदेश के सम्पादक, प्रकाशक जसवन्त सिंह निषाद जी के संयोजन में की जा रही है।

   आप सभी से विनम्र निवेदन है कि आपको अपने गांव से ही इस ज्ञापन को, ज्ञापन में दी गई 4 ईमेल और 3 व्हाट्सएप नम्बरों पर 7 जून भेजना होगा। किसी भी सूरत में किसी सरकारी कार्यालय में जाकर ज्ञापन नहीं देना है।

सभी जिला के लिए अलग अलग ज्ञापन बनाये गए हैं।

ज्ञापन भेजने से पहले आप अपने जिला के ज्ञापन का पीडीएफ 9457311662 नम्बर पर व्हाट्सएप से मंगा लें और उस पीडीएफ फाइल का किसी ऑनलाइन वाले से प्रिंटर  निकलवा लें। प्रिंट निकलवाने के बाद पेज 2 पर दिए गए खाली स्थान पर अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर और हस्ताक्षर कर दें। हस्ताक्षर अपने गाँव के ज्यादा से ज्यादा महिला पुरुष जो 18 साल से ऊपर के हों उनके ही कराने हैं। पेज पर खाली स्थान कम हो और हस्ताक्षर करने वाले ज्यादा साथी हों तो A-4 साइज़ के दूसरे कागज पर दोनों ओर ज्ञापन पेज 3 नम्बर व 4 लिखकर और भी लोगों के हस्ताक्षर करा सकते हैं। 

   हस्ताक्षर के बाद अपने ही गांव के किसी प्राथमिक विद्यालय या पंचायत भवन या सरकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या आंगनवाड़ी केंद्र या अन्य कोई ऐसा स्थान जिस पर आपके गांव का नाम व पता लिखा हो, के सामने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मुंह पर मास्क या मुंह किसी कपड़े से बांधकर इस तरह से खड़े हों कि उस स्थान का नाम फ़ोटो में साफ दिखाई दे, एक फोटो ग्रुप में खींचना है। इस खींचे हुए ग्रुप फोटो को और हस्ताक्षर कराए गए ज्ञापन के सभी पेजों के फोटो, ज्ञापन के पेज नम्बर 2 पर दी गईं 4 ईमेल आईडी - (महामहिम राष्ट्रपति महोदय के सचिव, आपके जिलाधिकारी महोदय, माननीय विशम्भर प्रसाद निषाद जी और जसवन्त सिंह निषाद जी को ईमेल करना है। और इन सभी फ़ोटो को जिलाधिकारी महोदय, माननीय विशम्भर प्रसाद निषाद जी व जसवन्त सिंह निषाद जी को उनके दिये गए व्हाट्सएप नम्बरों पर भी भेजना होगा।

  इस ऑनलाइन ज्ञापन भेजने के बाद आपके द्वारा गांव के लोगों का जो फ़ोटो खींचा गया है, उसका प्रिंट भी प्रिंट वाले से निकलवा कर, ज्ञापन की मूल कॉपी (जिस को पहले प्रिंट कराया था और हस्ताक्षर कराए हैं सभी को एक लिफाफे में जैसे नीचे फोटो में दिखाया गया है, बन्द करके महामहिम राष्ट्रपति जी को भेजने वाले में अपना नाम व पूरा पता लिखकर स्पीड पोस्ट से भी भेजना जरूरी है।

स्पीड पोस्ट का प्रारूप 


ज्ञापन


ज्ञापन पर हस्ताक्षर इस तरह कराने हैं





ग्रुप फ़ोटो केवल एक इस तरह से खींचना है










महामहिम राष्ट्रपति जी को मूल ज्ञापन और अपने गांव के लोगों के ग्रुप का फ़ोटो का प्रिंट नीचे दिए गए लिफाफे पर लिखे प्रारूप पर भेजना होगा।

आप अपने जिला के ज्यादा से ज़्यादा गांव और उत्तर प्रदेश के दूसरे जिले के अपने रिश्तेदारों को भी ज्ञापन भेजने के लिए प्रेरित कीजिए, जिससे उत्तर प्रदेश के निषाद, कश्यप, बिन्द समाज के ज्यादा से ज्यादा लोग इस मुहीम में जुड़कर आरक्षण लागू कराने के सरकार तक अपनी बात पहुंचा सकें।

अधिक जानकारी के लिए इन वीडियो को भी देखें
















Popular posts
पहुंचा दो सभी निषाद, बिन्द, कश्यप युवाओं तक यह संदेश
Image
"क्यों घबराई भाजपा निषाद वोटों को लेकर" आज 12 जून की शाम को फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर लाइव देखें
Image
नाई समाज का अपमान करने पर झारखण्ड के स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने के लिए मुख्यमंत्री सोरेन को लिखा पत्र
Image
बड़ा खुलासा : पंचायत चुनाव में निषाद प्रत्याशियों को हराने के लिए डॉ. संजय कुमार निषाद ने रची साजिश-राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष।
Image